एक शख्स की नफरत से सभी अमेरिकियों के बारे में राय बनाना गलत: कंसास गवर्नर - Growhunt

Latest

Amazing News Portal.

Sunday, 5 March 2017

एक शख्स की नफरत से सभी अमेरिकियों के बारे में राय बनाना गलत: कंसास गवर्नर

नई दिल्ली/वॉशिंगटन. कंसास गवर्नर सैम ब्राउनबैक ने कहा है कि इंडियन कम्युनिटी के लोगों की स्टेट में काफी अहमियत है, लेकिन किसी एक शख्स की नफरत से सभी अमेरिकियों के बारे में ऐसी ही राय बनाना गलत है। बता दें कि पिछले महीने (22 फरवरी) कंसास सिटी में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस घटना में श्रीनिवास के दोस्त आलोक मदसानी भी जख्मी हुए थे। हेट क्राइम के इस मामले में यूस नेवी के रिटायर्ड एडम पुरिन्टन को अरेस्ट किया गया है।गवर्नर के साथ मीटिंग में क्या हुआ...
Advertisement

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, कंसास में रह रहे भारतीय अमेरिकी लोगों के एक डेलिगेशन ने हिंदू-अमेरिकी फाउंडेशन के मेंबर्स के साथ कंसास गवर्नर ब्राउनबैक के साथ मीटिंग कर सुरक्षा की मांग की। मीटिंग में लेफ्टिनेंट गवर्नर जेफ कॉलेर और ह्यूस्टन में इंडियन कॉन्सुल जनरल अनुपम रे भी मौजूद थे।
- 2 मार्च को हुई इस मीटिंग के बाद ब्राउनबैक ने एक ट्वीट में कहा, "किसी एक शख्स का हेटफुल एक्शन अमेरिका की पहचान नहीं है, कंसास इंडियन कम्युनिटी के लोगों का वेलकम करने के साथ ही उनका सपोर्ट भी करता है।"
- मीटिंग के बाद जेफ कॉलेर ने कहा, "इंडियन कम्युनिटी के यूनिक कॉन्ट्रीब्यूशंस से कंसास एक बेहतर जगह बन गई है। हम इस क्राइम के खिलाफ उनके साथ हैं।"
कंसास गवर्नर ने और क्या कहा?
- इंडियन कम्युनिटी के लोगों ने कंसास गवर्नर से मिलकर अपने प्रोटेक्शन का भरोसा देने की मांग की। इस पर ब्राउनबैक ने उन्हें भरोसा दिलाते हुए कहा, "अपराधी पुरिन्टन हिरासत में है, उस पर फर्स्ट डिग्री मर्डर और फर्स्ट डिग्री मर्डर की कोशिश करने का आरोप है। उस पर कानून के तहत मुकदमा चलाया जाएगा। स्टेट ऑफिशियल्स हेट क्राइम के इस मामले में फेडरल अथॉरिटीज को जांच में पूरी मदद कर रहे हैं।"
- बता दें कि इस मामले की जांच FBI (फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन) कर रही है।
श्रीनिवास की पत्नी को लौटने में मदद करेंगे गवर्नर
- इंडियन एसोसिएशन ऑफ कंसास सिटी के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के चेयरमैन श्रीधर हारोहल्ली ने कहा, "गवर्नर के साथ मीटिंग काफी अच्छी रही। गवर्नर ने श्रीनिवास की विधवा पत्नी सुनयना दुमाला को वापस अमेरिका आने में मदद देने का वादा किया है।"
- मीटिंग में सुनयना के एक फैमिली फ्रेंड ने उनके एक मैसेज को भी पढ़ा, जिसमें उन्होंने कंसास में ही कॅरियर पूरा करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि वे पति के सपने को पूरा करने के लिए यूएस लौटना चाहती हैं।
- बता दें कि श्रीनिवास के पास H1B वीजा था, जबकि सुनयना के पास H4 डिपेन्डेंट वीजा। इसी कारण यह चिंता है कि ट्रम्प सरकार सुनयना को अमेरिका लौटने और वहां रहने की इजाजत नहीं देगी।
क्या हुआ था 22 फरवरी की रात?
- श्रीनिवास और उनके दोस्त आलोक मदसानी ओलाथे के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल बार में थे। तभी एक अमेरिकी एडम पुरिन्टन (51) उनसे उलझ गया।
- एडम रेसिस्ट कमेंट करने लगा। उसने दोनों को आतंकी कहा। बोला कि मेरे देश से निकल जाओ। तुम मेरे देश में क्यों आए हो? तुम हमसे बेहतर कैसे हो? बहस के बाद एडम को बार से निकाल दिया गया। थोड़ी ही देर में वह गन लेकर लौटा और दोनों पर गोली चला दी।
- हमले में श्रीनिवास की मौत हो गई। आलोक मदसानी जख्मी हुए, अब वे ठीक हैं। श्रीनिवास और आलोक ओलाथे में जीपीएस बनाने वाली कंपनी गार्मिन के एविएशन विंग में काम करते थे।

No comments:

Post a Comment